Category Archives: Social and Other

आजादी के संग्राम का अब तांडव मचाने आया हुँ (कविता)

अब तांडव मचाना हैं !!!

अब तांडव मचाना हैं !!!

आजादी के संग्राम  का अब तांडव मचाने आया हुँ।
खाली हाथ नहीं आया साथ कफन भी लाया हुँ।

मंद हवा थम चुकी अब तुफान आने को हैं
सब्र का बांध टुट चुका सैलाब आने को हैं
दिलदहला देने वाला मंजर खडा कर दूंगा
और इंतजार नहीं अब इंकलाब आने को हैँ। Continue reading

हिंदु धर्म गुरुऔ: अब तो जाग उठो!!!

आसाराम बापु पर यह पहली दफा नहीं था की उनके खिलाफ साजीश रची गई। इससे पहले भी कई साजीशों की कोशिश कि जा चुकी हैं और हर छोटी-बडी साजीशों को दलाल मिडीया ने पुरे जोर शोर से उठाया भी लेकीन सारी की सारी कोशिशे विफल रही।

कोशिशे नाकाम रही लेकीन इन कोशिशों के जरीये एक चेतावनी आसाराम बापु के लिये सदैव जस-की-तस थी और वो ये थी की ” साजिशों से सावधान “। यह चेतावनी आज सारे हिंदु धर्मगुरुऔ के लिये हैं और विशेष रुप से उनके लिये हैं जो अपनी पुरी कर्मठता ले धार्मीक जागरण में लगे हुवे हैं। Continue reading

हर घर में हो एक गाय और गाँव-गाँव गौशाला (कवीता)

Our Mother Cow

Our Mother Cow

हर घर में हो एक गाय और गाँव-गाँव गौशाला,
ऐसा गर हो जाये तो फिर भारत किस्मतवाला.

गाय हमारी माता है यह, नहीं भोग का साधन.
इसकी सेवा कर लें समझो, हुआ प्रभु-आराधन.
दूध पियें हम इसका अमृत, गाय ने हमको पाला.
हर घर में हो एक गाय और गाँव-गाँव गौशाला…

गाय दूर करती निर्धनता, उन्नत हमें बनाए,
जो गायों के साथ रहे वो, भवसागर तर जाए.
गाय खोल सकती है सबके, बंद भाग्य का ताला.
हर घर में हो एक गाय और गाँव-गाँव गौशाला…

\’पंचगव्य\’ है अमृत यह तो, सचमुच जीवन-दाता.
स्वस्थ रहे मानव इस हेतु, आई है गऊ माता.
गाय सभी को नेह लुटाये, क्या गोरा क्या काला.
हर घर में हो एक गाय और गाँव-गाँव गौशाला….

गाय बचाओ, नदी और तालाब बचाओ ऐसे,
\’गोचर\’ का विस्तार करें हम अपने घर के जैसे.
बच्चा-बच्चा बने देश में, गोकुल का गोपाला.
हर घर में हो एक गाय और गाँव-गाँव गौशाला…

गौ पालन-गौसेवा से हो, मानवता की सेवा,
गौ माता से मिल जाता है, बिन बोले हर मेवा.
कामधेनु ले कर आती है जीवन में उजियाला..
हर घर में हो एक गाय और गाँव-गाँव गौशाला..

-अज्ञात

UPA-3 : बचा सके तो बचालो देश!!!

काँग्रेसी रणनीती - 2014

काँग्रेसी रणनीती – 2014

आगामी UPA-3 कार्यकाल में संभावित घटनायें….

> वालमार्ट जैसी दर्जनों कंपनीयों के रिटेल शोपींग माल – देशी रिटेल शोप बंद
> LBT जैसे और भी नये टेक्स जिनके चलते देशी व्यार ठप्प
> सारे घोटालों मे सारे काँग्रेसीयों को क्लीन चीट
> रामसेतु को तोडने की फेज 1 प्लानींग को क्लीयरेंस
> अल्पसंख्यकों को 18% आरक्षण मंजुर
> भगवा-आतंक के दर्जनों कैस रजिस्टर्ड, कई भगवाधारी गिरफ्तार Continue reading

कांग्रेस और मिडिया देश की सबसे बड़ी “राष्ट्रीय-आपदा”!!!

कांग्रेस एक "राष्ट्रीय आपदा"

कांग्रेस एक “राष्ट्रीय आपदा”

उत्तराखंड की आपदा से भारी कांग्रेसी आपदा!!!

> सोनीया गंदी राहत सामाग्री को हरी जंडी दिखाने के लिये रोके रखती हैं!!!

> पप्पु हेयर कट के लिये युरोप जाते हैं और लंडन में बर्थडे मनाते हैं!!!

> बाबा रामदेव के राहत शीवीर को हटाया जाता हैं!!!

> बहुगुना मोदी के राहत कार्य को रोकते हैं लेकीन राहुल के सैर सपाटे को इजाजत देते हैं!!!

> राज्य के कृषी मंत्री सहित अन्य मंत्री राहत सामाग्री से भरे हेलीकाँप्टर को खाली करवा कर दोरे पर जाते हैं!!!

 

 

मिडीया के बईमान आँसु

मिडीया के बईमान आँसु

उत्तराखंड त्रासदी पर मिडीया के बईमान आँसु!!!

> राहत कार्य में जुटे हजारों RSS कार्यकर्ताऔ का किसी भी मिडीया ने उल्लेख तक नहीं किया!!!

> स्वामी रामदेव द्वारा करोडों कि दि गई राहत सामाग्री एवं जी-जान से किये बचाव कार्य को पुर्णतया नजर अंदाज करके रखा!!!

> मोदी के त्वरीत राहत कार्य को राजनेतीक चोंगा पहना कर बदनाम करने मुहीम छेडी

> लोगों के गम को बाँटने का ढोंग मचाने वाले मिडीया ने  क्या कभी उ.ख. के गैरकानुनी से कटते पेडो पर खुलासा किया!!!

> देवभुमी पर अवेध खनन मे मची लुट को कभी मुद्दा क्यों नहीं बनाया जिसकी वजह से भारी भुसंखलन कि घटना घटी!!!!

भ्रष्ट कांग्रेस और हमारी भ्रष्ट मिडिया को देश की “राष्ट्रीय-आपदा” घोषित करते हुवे देश की जनता को इनसे बचाने का अथक प्रयास करे.

जागो और जगाओ, देश बचाओ!!!
अभी तो करोड़ों को जगाना हैं!!!

जय हिन्द, जय भारत!!!

ये कैसा भारत-निर्माण!!!

image

युपीए का भारत निर्माण

रुपये कि किमत लगातार ढलान पर हैं…

चायना देश पर गिद्द कि नजरे गढाये बैठा हैं…

पाकिस्तान कि गिदड-भभकी भारत के लिये आम बात बन चुकी हैं…

अमेरीका ने देश के लोकतंत्र को बरसो से खोकला कर रखा हैं और कठपुतली की तरह नचा रहा हैं…

बाजारों पर विदेशी कंपनीयो हल्ला-बोल मचा हुवा हैं…

सटोरे, माफीयाँ और दलाल अपना धंधा खुले आम चला रहे….

देश के जल-जमीन-संपदा कि भारी लुट मची हुई हैं…

यहाँ तक की आये दिन बढती महंगाई से आम आदमी कि आत्मा तील-तील हो रही हैं….

…लेकिन क्या आप-को अपने आस-पास एसे मनचलो कि कोई भी कमी दिखती हैं जो क्रिकेट का स्कोर ना पुछता हो…जो फिल्मो के गानो में ना गुम हो…जो मोबाईल पर गेम खेलने में ना मस्त हो…और बडे शान से कहता ना हो कि – “I hate Politics”

शायद यही तो हैं काँग्रेस का असली भारत-निर्माण!!!!

जागो और जगाऔ, देश बचाऔ!!!
अभी तो करोडों को जगाना हैं!!!